भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्‍स लिमिटेड
पावर सेक्‍टर पूर्वी क्षेत्र (पीएसईआर)

आईएसओ 9001: 2015 और आईएसओ 27001: 2013 प्रमाणित संगठन

बीएचईएल पीएसईआर के इंटरनेट पृष्‍ठ पर आपका स्‍वागत है
English Site

समाचार पत्रों में निविदा विज्ञापन के निरंतर प्रकाशन को विराम

अंतर्वस्‍तु

भेलगीत (1 ट्रैक)

भेलगीत (2 ट्रैक)

निविदा सूचना

वेंडर्स एरिया

लोकपाल एवं लोकायुक्‍त अधिनियम 2013 के तहत फॉर्मेट

सूचना का अधिकार

सूचना बोर्ड

बीएचईएल पीएसईआर में स्‍वच्‍छ भारत अभियान

चक्षु दान पर जागरूकता फैलाने वाली फिल्‍म

   
पीएसईआर के विशिष्‍ट कीर्तिमान 2018-19

बीआरबीसीएल नबीनगर यूनिट-1 (250 मेगावाट):
मिल पीजी परीक्षण 03/11/2018 को पूरा हुआ।

बीआरबीसीएल नबीनगर यूनिट-3 (250 मेगावाट):
टर्बाइन को 31/10/2018 तारीख सफलतापूर्वक बैरिंग गियर पर रखा गया।

टाटा स्टील जमशेदपुर (40 मेगावाट):
टर्बाइन को 31/10/2018 तारीख सफलतापूर्वक बैरिंग गियर पर रखा गया।

सागरदीघी यूनिट-4 (500 मेगावाट):
ईएसपी पीजी परीक्षण 15/10/2018 को पूरा हुआ।

ओपीजीसीएल आईबी वैली (2 x 660 मेगावाट) :
यूनिट-3 टीजी और यूनिट-4 टीजी को 09/10/2018 तारीख बैरिंग गियर पर रखा गया।

बीआरबीसीएल नबीनगर यूनिट-1 (250 मेगावाट):
एसजी पीजी परीक्षण 08/10/2018 को सफलतापूर्वक पूरा हुआ।

पुनातसांगचु-2 एचईपी :
असेंबली और पहला बटर फ्लाई वाल्व का हाइड्रो परीक्षण 18.50 किलो वर्ग सेमी के दबाव पर 08/10/2018 को सफलतापूर्वक पूरा हुआ।

आरआरवीयूएनएल सूरतगढ़ यूनिट-8 (660 मेगावाट):
बॉयलर अलकाली फ्लशिंग और एसिड सफाई (रिंसिंग सहित) 29/09/2018 को शुरू किया गया और 06/10/2018 को सफलतापूर्वक पूरा हुआ।

ओपीजीसीएल आईबी वैली (2 x 600 मेगावाट):
दोनों यूनिट का टीजी आयल फ्लशिंग सफलतापूर्वक पूरा हुआ। यूनिट-3 03/10/2018 को और यूनिट-4 05/10/2018 को पूरा हुआ।

बीआरबीसीएल नबीनगर यूनिट-1 (250 मेगावाट):
टीजी साइकिल का पीजी टेस्ट 30/09/2018 से 04/10/2018 के दौरान सफलतापूर्वक पूरा हुआ।

बीआरबीसीएल नबीनगर यूनिट-3 (250 मेगावाट):
बॉयलर एसिड सफाई 03/10/2018 को सफलतापूर्वक पूरा हुआ।

पुपुनातसांगचु-1 यूनिट-5 (200 मेगावाट):
बॉयलर का कोर फ्लक्स टेस्ट 03/10/2018 को सफलतापूर्वक पूरा हुआ।

टाटा स्टील जमशेदपुर (40 मेगावाट):
ऑइल फ्लशिंग 26/09/2018 को पूरा हुआ।

ओपीजीसीएल आईबी वैली यूनिट -4 (660 मेगावाट):
15/09/2018 को रासायनिक सफाई सफलतापूर्वक पूरी हुई।

बीआरबीसीएल नबीनगर यूनिट -3 (250 मेगावाट):
13/09/2018 को बीएलयू सफलतापूर्वक हासिल किया।

एनटीपीसी बोंगाईगांव यूनिट -3 (250 मेगावाट):
स्टीम ब्लोइंग 10/09/2018 को पूरा हुआ।

एनएसपीसीएल राउरकेला (250 मेगावाट):
बॉयलर ड्रेनेबल हाइड्रो टेस्ट सफलतापूर्वक 08/09/2018 को पूरा हुआ।

बीआरबीसीएल नबीनगर यूनिट -3 (250 मेगावाट):
टीजी डेक फ्लोटिंग गतिविधि सफलतापूर्वक 06/09/2018 को पूरी हुई।

ओपीजीसी आईबी वैली यूनिट -4 (660 मेगावाट):
31/08/2018 को बॉयलर लाइट अप सफलतापूर्वक पूरा हुआ।

पुनातसांगचु -1 एचईपी :
दूसरी एमआईवी का हाइड्रो परीक्षण सफलतापूर्वक 26/08/2018 को पूरा हुआ। इस एमआईवी का परीक्षण एवं जोड़ना 40 दिनों के एल 2 अनुसूची के मुकाबले 26 दिनों के रिकॉर्ड समय में पूरा हो चुका है।

आरआरवीयूएनएल सूरतगढ़ यूनिट -7 (660 मेगावाट):
स्टीम ब्लोइंग सफलतापूर्वक 25/08/2018 को पूरा हुआ।

ओपीजीसीएल आईबी वैली यूनिट -4 (660 मेगावाट):
सफल इंटरलॉक सुरक्षा के बाद पहली बार 23/08/2018 को एमडीबीएफपी का ट्रायल रन किया गया।

आरआरवीयूएनएल सूरतगढ़ यूनिट -8 (660 मेगावाट):
जीटी चार्जिंग 21/08/2018 को पूरा हुआ।

मंगदेचु यूनिट -4 (180 मेगावाट):
12/08/2018 को जेनरेटर बैरल में स्टेटर को नीचे उतारा गया ।

एनटीपीसी बोंगाईगांव यूनिट -3 (250 मेगावाट):
स्‍टीम ब्लोइंग का पहला चरण 06/08/2018 को पूरा हुआ।

ओपीजीसीएल आईबी वैली यूनिट -4 (660 मेगावाट):
सहायक बॉयलर अलकाली बॉइल 04/08/2018 सफलतापूर्वक पूरा हुआ।

आईओसीएल पारादीप:
01/08/2018 को जीटी -3 और एचआरएसजी -3 का पीजी परीक्षण पूरा हुआ।

ओपीजीसीएल आईबी वैली यूनिट - 4 (660 मेगावाट):
बॉयलर का गैर ड्रेनेबल हाइड्रो टेस्ट 17/07/2018 को और मुख्य स्टीम लाइन हाइड्रो टेस्ट 28/07/2018 को सफलतापूर्वक पूरा हुआ ।

आरआरवीयूएनएल सूरतगढ़ यूनिट -8 (660 मेगावाट):
बॉयलर सुपर हीटर सर्किट के गैर-ड्रेनेबल हाइड्रॉलिक परीक्षण 27/07/2018 को 436 किग्रा वर्ग सेमी के दबाव में सफलतापूर्वक पूरा हुआ।

आरआरवीयूएनएल सूरतगढ़ यूनिट -8 (660 मेगावाट):
बॉयलर री-हीटर सर्किट का गैर-ड्रेनेबल हाइड्रॉलिक परीक्षण 27/07/2018 को 110 किलो वर्ग सेमी के दबाव पर सफलतापूर्वक पूरा हुआ।

एनटीपीसी बोंगाईगांव यूनिट -3 (250 मेगावाट):
टीजी बैरिंग गियर 26/07/2018 को हासिल किया गया।

ओपीजीसीएल आईबी वैली (2 x 660 मेगावाट):
26/07/2018 को सहायक बॉयलर लाइट सफलतापूर्वक किया गया।

बीआरबीसीएल नबीनगर यूनिट -3 (250 मेगावाट):
एसटीजी लब ऑयल, सील ऑयल एंड कंट्रोल ऑयल फ्लशिंग 26/07/2018 को सफलतापूर्वक पूरा हुआ।

आरआरवीयूएनएल सूरतगढ़ यूनिट -8 (660 मेगावाट):
प्री-बॉयलर डिटर्जेंट फ्लशिंग (बॉयलर फीड वॉटर, कंडेनसेट और एचपी-एलपी ड्रिप पाइपलाइनों सहित) रिंसिंग और पासिवेशन के साथ आरआरवीएनएलएल और बीएचईएल के वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में 23/07/2018 को सफलतापूर्वक पूरा हुआ ।

मैत्री बांग्लादेश यूनिट -1 (660 मेगावाट):
30/06/2018 को बॉयलर निर्माण शुरू हुआ।

बीआरबीसीएल नबीनगर यूनिट -3 (250 मेगावाट):
डिटर्जेंट फ्लशिंग चरण - I, II, III 13/06/2018 को सफलतापूर्वक पूरा हुआ।

आरवीयुएनएल सूरतगढ़ यूनिट -7 (660 मेगावाट):
स्टीम ब्लोइंग 09/06/2018 को शुरू हुआ।

मंगदेचु यूनिट -3 (180 मेगावाट):
रोटर 09/06/2018 को नीचे किया गया।

केबीयूएनएल मुजफ्फरपुर यूनिट 4 (195 मेगावाट):
07/03/2018 को परीक्षण रन पूरा हुआ, प्रमाणपत्र 31/05/2018 को प्राप्त हुआ।

टाटा स्टील जमशेदपुर (40 मेगावाट):
22/05/2018 को टर्बाइन बॉक्स्ड अप |

मारवा यूनिट -1 (500 मेगावाट):
बॉयलर पैकेज का पीजी परीक्षण सफलतापूर्वक 19/05/2018 को पूरा हुआ।

आईआईएससीओ बर्नपुर:
बॉयलर -3 (200TPH) का पीजी परीक्षण 04/05/2018 को सफलतापूर्वक पूरा कर लिया।

पुनातसांगचु -1 यूनिट -2 (200 मेगावाट):
जनरेटर स्टेटर को कम करना 03/05/2018 को अपनी नींव पर सफलतापूर्वक किया गया।

आरवीयूएनएल सूरतगढ़ यूनिट -7 (660 मेगावाट):
30/04/2018 को अलकाली ब्यॉल आउट एवं रासायनिक सफाई के साथ पैसिवेसन एवं रिंसिंग सफलतापूर्वक किया गया।

मैत्री बांग्लादेश यूनिट -2 (660 मेगावाट):
बॉयलर का फाउंडेशन कार्य 23/04/2018 को शुरू हुआ।

एनटीपीसी बोंगाईगांव यूनिट -1 (250 मेगावाट):
मिलिंग सिस्टम पीजी टेस्ट 06/04/2018 को पूरा हुआ।

एनटीपीसी बोंगाईगांव यूनिट -3 (250 मेगावाट):
बीएफडी सिस्टम हाइड्रो टेस्ट 03/04/2018 को पूरा हुआ।


भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड भारत में आज अपने ही प्रकार का इंजीनियरी एवं उत्पादकता वाला बृहद्तम संगठन है। जिसे लाभ कमाऊ उद्यम एवं कार्यकारिता के लिए पहचाना जाता है। कम्पनी को वर्षों से उसकी सशक्त कार्यकारिता और सामर्थ्य के परिणामस्वरुप महारत्न कंपनियों में स्थान दिया गया है । इस उद्यम को विश्व बाजार में अपनी साख बनाने के लिए सरकार का पूरा-पूरा समर्थन प्राप्त है ।


भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड, पावर सेक्टर-पूर्वी क्षेत्र कंपनी के पावर सेक्टर का पूर्वी स्‍कंध है,जिसका मुख्यालय कोलकाता है एवं भारत के पूर्वी क्षेत्र को सेवाएं प्रदान करता है । पूर्वी क्षेत्र के अंतर्गत बिहार , उड़ीसा , पश्चिम बंगाल , असम, मेघालय, मणिपुर, मिजोरम ,अरुणाचल प्रदेश,नागालैंड,त्रिपुरा एवं सिक्किम राज्य आते हैं । इसके अतिरिक्‍त पीएसईआर ने अब औपचारिक सीमाएं पार कर ली हैं एवं आंध्रप्रदेश, तेलंगाना तथा राजस्‍थान जैसे राज्‍यों में परियोजनाएं निष्‍पादित कर रहा है।



हिंदी अनुभाग                            हिंदी परिवार


हमारे ग्राहक : सीएसर्इबी – डीवीसी – एनटीपीसी - बीआरबीसीएल- डब्‍ल्‍युबीपीडीसीएल – डीपीएल – केबीयुएनएल – एचएनपीसीएल बीएसईबी – एससीसीएल – आरवीयुएनएल – अीपीजीसीएल- ओटीपीसी- अभिजित – एपीएनआरएल – टीएसपीसीएल – सीएसपीजीसीएल – एपीजीसीएल – टाटा पावर – नीप्‍को – आईओसीएल- ईस्‍को - बीआरपीएल – ऑयल – बीसीपीएल – एनएचपीसी – एनपीजीसीएल - बीआईएफपीसीएल



भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्‍स लिमिटेड
पावर सेक्‍टर पूर्वी क्षेत्र
प्‍लॉट सं डीजे – 9/1सेक्‍टर ।। , करूणामयी, सॉल्‍टलेक सिटि , कोलकाता -700091, भारत
पंजीकृत कार्यालय -बीएचईएल हाउस , सिरि फोर्ट , नई दिल्‍ली -110049

पिछला अद्यतन दिनांक: 05/11/2018